saritkriti

Just another Jagranjunction Blogs weblog

20 Posts

2 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 25565 postid : 1337503

अटकले

Posted On 29 Jun, 2017 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

देख कर इनकी कारजस्तानी ,
दिल मचल सा जाता है ।
चीनियों के चेहरे पर भी ,
पाकिस्तान झलक सा जाता है ।
दिल में इर्ष्या के आग जल रहे ,
लाख छुपाओ परदे डाल ।
दिख जाते हैं ओछी हरकत ,
धुआँ झलक ही जाता है ।
आतंकियों से त्रस्त देश है ,
ढूँढता फिर रहा है समाधान ।
चल रहा है उसी राह पर ,
जहाँ भी मिल जाए समाधान ।
अपनी सुरक्षा सभी करते हैं ,
करते हैं अपनी परवाह ।
देशहित का दायित्व है जिसपर ,
कर रहा है उसका निर्वाह ।
टांग अराना छोडकर अपना ,
चल दे अपनी – अपनी राह ।
बाँट सको न दुख जो किसी का ,
बाँध लो अपने पैर और हाथ ।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran